अँचना

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अँचना पु क्रि॰ स॰ दे॰ 'अँचवना' । उ॰—पुट एकै इत मद उत अंमृत आपु अँचै अँचवावै ।—सूर॰, १० । १२४९ ।