अँड़ुआ

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अँड़ुआ ^१ संज्ञा पुं॰ [सं॰ अण्ड, हिंदी अँड़+उआ (प्रत्य॰)] वह पशु जो बधिया न किया गया हो । आँड़ू ।

अँड़ुआ ^२ वि॰ जो बधिया न किया गया हो । आँड़ू ।

अँड़ुआ बैल संज्ञा पुं॰ [हिं॰ अड़ुआ+ बैल]

१. बिना बधिया किया हुआ बैल । साँड़ ।

२. बहुत बड़े अंड़कोशवाला आदमी जो उसके बोझ से चल न सके ।

३. सुस्त आदमी ।