अँतराना

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अँतराना ^१ पु † क्रि॰ स॰ [सं॰ अन्तर से नाम॰]

१. अलग करना । जुदा करना ।

२. भीतर करना । भीतर ले जाना ।

अँतराना ^२ पु क्रि॰ अ॰ अँतर या भेद ड़ालना । फर्क डालना । उ॰— हौं हौं कहत धोख अँतराहीं । ज्यौं भा सिद्ध कहाँ परीछाहीं ।—जायसी ग्रं॰ (गुप्त), पृ॰, २८४ ।