अँधियारी

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अँधियारी ^१ पु † संज्ञा स्त्री॰ [हिं॰ आँधियार]

१. अंधकार । उ॰— जब करि थक्यौ सरलौ नहिं एकौ नाहिं मिटी अँधियारी ।— जग॰ श॰, भा॰ २, पृ॰ १०८ ।

२. अंधकार फैला देनेवाली आँधी । उ॰— आँधियारो आई तहँ भारी । दनुज सुता तिहिं तै न निहारी । — सूर॰ ९ ।१७४ ।

३. दे॰ 'अंधिआरि' । उ॰— जोबन गज अपसर मद कीन्हें । अब न रहै आँधियारी दीन्हें । चित्रा॰, पृ॰१६४ ।

अँधियारी ^२ वि॰ स्त्री॰ अंधकारपूर्ण । उ॰—अँधियारी भादौं की रात ।—सूर॰, १० ।१२ ।

अँधियारी कोठरी संज्ञा स्त्री॰ [हिं॰ आँधियारी+कोठरी]

१. अँधेरा छोटा कमरा ।

२. पालकी का अगला कहार जब रास्ते में पानी देखता है तब पीछेबाले कहारों को सावधान करने के लये 'अँधियारी कोठरी' कहता है ।

३. पेट । उदर । गर्भस्थान । कोख । धरन ।