अंकना

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अंकना पुं॰ क्रि॰ स॰ [ सं॰ अङ्क]

१. निश्चित करना । ठहराना । आंकना । उ॰— इहै बात साँची सदा देव अंकी ।— पृ॰ रा॰, २ ।२

११. ।

२. ढ़कना । मुद्रित करना । मूँदना । उ॰— समझि दासि सिरवर तिन ढक्यो । करपल्लव तिन द्रग बर अंक्यो ।— पृ॰ रा॰ ६१ ।७१९ ।