अंग-कद

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

पु. [सं. अंग+फा.कद्] चित्रकला में इस बात का विचार कि चित्रित आकृति के सब अंग उसके कद या ऊँचाई के अनुसार ठीक हों।