अंतर्गत

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अंतर्गत ^१ वि॰ [ सं॰ अन्तर्गत ]

१. भीतर आया हुआ । समाया हुआ । शामिल । अंतर्भूत । अंतर्गृहीत । संमिलित । उ॰— (क) 'और यह भी ध्यान हुआ कि ऐसे बडे़-बडे़ वृक्ष इन्हीं छोटे बीजों के अंतर्गत हैं' ।—भारतेंदु ग्रं॰, भा॰ १, पृ॰ १२५ । ( ख) 'इस समय इतना भूभाग मलाबर के अंतर्गत है' ।—सरस्वती ( शब्द॰ ) ।

२. भीतरी । छिपा हुआ । गुप्त । उ॰— 'यह फोडा कभी प्रत्यक्ष, पभी अंतर्गत रहता है' ।—अमृतसागर (शब्द॰) ।

३. हृदय के भीतर का । अंतःकरणस्थित । उ॰— 'उनके अंतर्गत भावों को कौन जान सकता है' (शब्द॰) ।

अंतर्गत ^२ संज्ञा पुं॰ मन । जी । हृदय । चित्त । उ॰— (क) रुक्स रिसाइ पिता सों कह्यो । सुनि ताको अंतर्गत दह्यो ।—सूर॰, (शब्द॰) । (ख) तुलसिदास जद्यपि निसि बासर छिन छिन प्रभु मूरतिहिं निहारति । मिटति न दुसह ताप तउ तन की यह बिचारी अंतर्गत हारति ।—तुलसी (शब्द॰) ।