अकलंक

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अकलंक ^२ संज्ञा पुं॰ एक जैन लेखक जिनका नाम भट्ट अकलंक देव था [को॰] ।

अकलंक ^३ † संज्ञा पुं॰ [सं॰ अकलङ्क्] दोष । । लांछन । ऐब । दाग । उ॰—ठाने अठान जेठानिन हूँ सब लोगन है अकलंक लगाए ।—कोई कवि (शब्द॰) ।