अकाण्डताण्डव

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अकांडतांडव संज्ञा पुं॰ [सं॰ अकाण्ड+ ताण्डव]

१. असामयिक उद्धत नृत्य । आकस्मिक उद्धत नृत्य । उ॰—हरिऔध हर के अकांड तांडवों के भये, भांड़ के समान सारो ब्रह्मांड फूटैगी ।—रसक॰, पृ॰ ३५१

२. व्यर्थ की उछल कूद । व्यर्थ की बक्वाद । वितंडा ।