अकार्पण्य

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अकार्पण्य ^१ संज्ञा पुं॰ [सं॰]

१. कृपाणता का अभाव ।

२. दीनता का अभाव [को॰] ।

अकार्पण्य ^२ वि॰ जो निम्नता या दीनता दिखाए बिना प्राप्त हो [को॰] ।