अखर

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अखर ^१ पु संज्ञा पुं॰ [सं॰ अक्षर;पा॰, प्रा॰ अक्खर] अक्षर । वर्ण । हरफ । उ॰—म द प अखर ए मध्य तज झ ट क अंत मत आण ।—रघु॰ रू॰, पृ॰ ८ ।

अखर ^२ पु वि॰ दे॰ 'अक्षर' ।

अखर ^३ पु संज्ञा स्त्री॰ [हि॰ अखरना] अखरने का भाव या स्थिति । उ॰—हाँ, संदूक खोलकर लाना कोई कठिन काम न हीं । अखर तो उसे होती है जिसे कुआँ खोदना पड़ता है ।— काया॰, पृ॰ ३० ।