अचकन

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अचकन संज्ञा पुं॰ [अ॰'चिकन' का 'परिधान' से] एक प्रकार का लंबा अंगा । विशेष—इसमें पाँच कलियाँ और एक बालाबर होता है । जहाँ बालाबर मिलता है वहाँ दो बंद बाँधे जाते है । अब बंदों के स्थान पर बटन भी लगाने लगे हैं ।