अदालत

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अदालत संज्ञा स्त्री॰ [अ॰] न्यायालय । वह स्थान जहाँ बैठकर न्यायाधीश स्वत्व संबंधी झगड़ों पर विचार करता है । विरोष—आजकल इसके दो प्रधान विभाग हैं—(१) फोजदारी और (२) दीवानी । माल विभाग को दीवानी के अंतर्गत ही समझना चाहिए । यौ.—अदालत अपील=वह अदालत जहाँ किसी मातहत अदालत के फैसले की अपील हो । अदालत खफीफा=एक प्रकार की दीवानी अदालत जिसमें छोटे छोटे मुकदमे लिए जाते हैं । अदालत दीवाली=वह अदालत जिसमें संपत्ति या स्वत्व संबंधी बातों का निर्णय होता है । अदालत मराफाऊला=वह अदालत जिसमें पहले पहल दीवानी मुकदमा दायर किया जाय । अदालत मराफासामी=वहअदालत जिसमें अदालत मराफाऊल की अपील हो । अदालत मातहत=जिसके फैसले की अपील उसके ऊपर की अदालत में हुई हो । अदालत माल=वह अदालत, जिसमें मालगुजारी वा लगान संबंधी मुकदमे दायर किए जाते हैं । मुहा.—अदालत करना=मुकदमा लड़ना । अदालत होना= अभियोग चलना ।

अदालत ।

४. चौबीस दिनों का एक यज्ञ ।

५. समूह । राशि (को॰) ।

६. किसी देश की चुने हुए जन प्रतिनिधियों की सर्वोच्च सभा (अं॰ पार्लामेट) । विशेष दे॰ 'पार्लामेंट' ।