अधम

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अधम ^१ वि॰ [सं॰ ] [स्त्री॰ अधमा] [संज्ञा अधबाई, अधपता]

१. नीच । निकृष्ठ । बुरा । खोठा ।

२. पापी । दुष्ट । उ॰— कहाहि सुनाहि॰ अस अधम नर ग्रसे जे मोह पीसाच ।— मानस १ ।११४ ।

अधम ^२ संज्ञा पुं॰

१. एक पेड़ का नाम ।

२. कवि के तीन भेदों में से एक । वह कवि जो दुसरों की निदा करे ।

३. ग्रहों का एक अनिष्ट योग (को॰) ।

४. कर्तव्याकर्तव्य के विचार से रहित कामी (को॰) ।