अनबन

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

अनबन ^१ संज्ञा पुं॰ [हिं॰ अन=नहीं+ √बन=बनना] बिगाड़ । विरोध । फूट । खटपट ।

अनबन ^२ पु वि॰ मिन्न भिन्न । नाना (प्रकार) । विविध । अनेक । उ॰—(क) अनबन बानी तेहि के माहिं । बिन जाने नर भटका खाहिं ।—कबीर (शब्द॰) । (ख) पुनि अभरन बहु काढ़ा अनबन भाँति जराव ।—जायसी ग्रं॰ (गुप्त), पृ॰ ३४४ ।