अनाथ

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

अनाथ वि॰ [सं॰[ [ स्त्री॰ अनाथा ]

१. नाथहीन । प्रभुहीन । विना मालिक का । उ॰—नाथ तु अनाथ को अनाथ कौन मो सो ।— तुलसी, ग्रं॰ पृ॰५०० ।

२. जीसका कोई पालन पोषण करनेवाला न हो । बिना माँ बाप का । लावारिस । जैसे— 'अनाथ बालकों की रक्षा के लिये उन्होंने दान दिया (शब्द) ।

३. असहाय । अशरण । जिसे कोई सहारा न हो ।

४. दीन । दु:खी । मुहताज । यौ.—अनाथालाय ।