अनासक्त

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अनासक्त वि॰ [सं॰] जो किसी विषय में आसक्त न हो । उ॰— त्यागी भी हैं शरण जिनके, जो अनासक्त गेह, राजा योगी जय जनक वे पुण्यदेही, विदेह ।—साकेत, पृ॰ २५० ।