अनुवाद

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी

संज्ञा

अनुवाद

  1. किसी एक भाषा के शब्दों/वाक्यों के सामान दूसरी भाषा में शब्द/वाक्य बनाना

अनुवाद

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अनुवाद संज्ञा पुं॰ [सं॰]

१. पुररुक्ति । पुन:कथन । दोहराना ।

२. भाषांतर । उल्था । तर्जुमा ।

३. न्याय के अनुसार वाक्य का वह भेद जेसमें कही हुई बात का फिर फिर स्मरण और कथन हो । जैसे—'अन्न पकाओ, पकाओ, पकाओ, शीघ्र पकाओ, हे प्रिय पकाओ' । विशेष—इसके दो भेद हैं—जहाँ विधि का अनुवाद हो वहाँ शब्दा— नुवाद और जहाँ विहित का हो वहाँ अर्थानुवाद होता है ।

४. मीमांसा के अनुसार वाक्य के विधिप्राप्त आशय का दूसरे शब्दों में समर्थन के लिये कथन । विशेष—यह तीन प्रकार का है—(क) भूतार्थानुवाद, जिसमें आशय की पुष्ठि के लिये भूतकाल का उल्लेख किया जाय़ । जैसे, पहले सत् ही था । (ख) स्तुत्यार्थानुवाद, जैसे, वायु ही सबसे बड़कर फेकनेवाला देवता है । (ग) गुणानुवाद , जैसे, दही से हवन करे ।

५. खबर । जनश्रुति (को॰) ।

६. व्याख्यान का आरंभ (को॰) ।

७. विज्ञापन । सुचना [को॰] ।