अमानत

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अमानत संज्ञा स्त्री॰ [अ॰]

१. अपनी वस्तु को किसी दूसरे के पास एक नियत काल तक के लिये रखना

२. वह बस्तु जो दूसरे के पास किसी नियत या अनियत काल तक के लिये रख दी जाय । थानी । धरोहर । उपनिधि ।

३. प्राचीन का काम या पद (को॰) ।

४. शांती । अमन । यौ॰— अमानतखाता=कोठी, बैंक आदि का वह खाता जिसमें अमानत की रकम जमा की जाती है । अमानतखाना=वह