अल

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अल ^१ संज्ञा पुं॰ [सं॰]

१. बिच्छू का डंक ।

२. हरताल ।

३. विष । जहर । उ॰—अति बल करि काली हान्यो । लपटि गयो सब अंग अंग प्रति निर्विष कियो सकल अल झार्यो ।— सूर (शब्द॰) ।

अल ^२ वि॰ [सं॰] समर्थ । शक्त । उ॰—कारन अबिरल अल अपितु तुलसी अबिद भुलान ।—स॰ सप्तक, पृ॰ २६ ।