अलोप

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अलोप पु वि॰ [सं॰ लोप] दे॰ 'लोप' । उ॰—अलोप टोप कै अटोप चाइ चोप सों धरैं ।—पद्माकर ग्रं पृ॰ २८४ ।

अलोप संज्ञा पुं॰ [सं॰ अलोप] एक पेड़ जो सदा हरा रहता है । विशेष—इसके हरि की लाल और चिकनी लकड़ी बहुत मजबुत होती है । यह नाव और गाड़ी बनाने के काम में आती है तथा घरों में लगती है । इसकी लकड़ी पानी में खराब नहीं होती ।

अलोप संज्ञा पुं॰[सं॰]

१. लुप्त करना ।

२. पहले का निरचय रद्ध करना [को॰] ।