अवरोही

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अवरोही ^१ संज्ञा पुं॰ [सं॰ अवरोहिन्]

१. वह स्वर जिसमें पहले षड्ज का उच्चारण हो, फिर निषाद से षड्ज तक क्रमानुसार उतरते हुए स्वर निकलते जाय़ँ । सा, नि, ध, प, म, ग, री सा का क्रम । विलोम । आरोही स्वर का उलटा ।

२. वटवृक्ष ।

अवरोही ^२ वि॰ ऊपर से नीचे की तरफ आनेवाला [को॰] ।