सामग्री पर जाएँ

असत्य

विक्षनरी से

असत्‍य के लिए वैसे तो कोई सार्वभौमिक परिभाषा नहीं है,लेकिन पुरातन काल से ही वह कथन जो सही नहीं हो असत्‍य कहलाता है। अर्थात किसी भी मद में सार्वजनिक या निजी कारणों से सही बात को न कहकर गलत बात का बयान करना ही असत्‍य कहलाता है।

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

असत्य ^१ वि॰ [सं॰]

१. मिथ्या । झूठ ।

२. अवास्ताविक [को॰] ।

३. अनिश्चित फलवाला [को॰] ।

असत्य ^२ संज्ञा पुं॰

१. वह व्यक्ति जो झूठा न बोलता हो ।

२. झुठाई । असत्यता [को॰] ।