सामग्री पर जाएँ

अहै

विक्षनरी से

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

अहै क्रि॰ अ॰ [सं॰ अस्ति, प्रा॰ अहइ >>अहै] है । उ॰—अहै कुमार मोर लघु भ्राता । -मानस, ३ । ११ ।