आँकर

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

आँकर ^१ वि॰ [सं॰ आकर = खान, जो गहरी होती है]

१. गहरा । 'स्याह' या 'सेव' का उलटा । विशेष—जोताई दो तरह की होती है-एक आँकर अर्थात् खूब गहरी (अँवाय) और दूसरी स्याह या सेव ।

२. बहुत अधिक । उ॰—मोहमद मात्यो रात्यो कुमति कुनारि सों बिसारि बेद लोक लाज आँकरो अचेतु है ।-तुलसी (शब्द॰) ।

आँकर ^२ वि॰ [सं॰ अक्रय्य] महँगा ।