आँचका

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

आँचका संज्ञा पुं॰ [देश॰] वह लटकता हुआ रस्सा जिसके छोर पर के छल्ले में से होकर वह रस्सा जाता है जिसपर खडे़ होकर खलासी जहाज का पाल खोलते और लपेटते हैं ।