आकर्ण

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

आकर्ण वि॰ [सं॰] कान तक फैला हुआ । यौ॰ —अकर्णचक्षु । आकर्णकृष्ट ।