आयत

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

आयत ^१ वि॰ [सं॰] विस्तूत । लंबा चौड़ा । दीर्घ । विशाल । उ॰— सोहत ब्याह साज सब साजे । उर आयत उर भूषन राजे । —मानस, १ । ३२७ ।

आयत ^२ संज्ञा स्त्री॰ [सं॰] इंजील का वाक्य । कुरान का वाक्य । उ॰— पुनि उस्मान मंड़ित बड़ गुनी । लिखा पुरान जो आयत सुनी ।—जायसी ग्रं॰ पृ॰, ५ ।