इंगार

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

इंगार पु संज्ञा पुं॰ [सं॰ इड़गाल] दे॰ 'अंगार' । उ॰—देही कण इंगार जू तपै, राजर मांथ भयउ उगतउ भाण ।—बी॰ रासो॰, पृ॰ १२ ।