इंद्रमह

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

इंद्रमह संज्ञा पुं॰ [सं॰ इन्द्रमह]

१. दे॰ 'इंद्रमख' ।

२. वर्षा ऋतु । यौ॰—इंद्रमहकामुक = श्वान । कुत्ता ।