इसबगोल

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

इसबगोल संज्ञा पुं॰ [फा॰ इस्पगगोल, इस्पगोल] चिकित्सा कार्य में प्रयुक्त एक झाड़ी या पौधा । विशेष— यह फारस में बहुत है । पंजाब और सिंध में भी इसकी झाड़ियाँ लगाई जाती हैं । इसमें तिल के आकार के बीज लगते हैं जो भूरे और गुलाबी होते हैं । यूनानी चिकित्सा में इसका व्यवहार अधिक है । यह शीतल, बद्धकारक और रक्तातिसारनाशक हैं । यह बवासीर, नकसीर और रक्तस्राव की बीमारियों में बहुत फायदा करता हैं । अतिसार और सूजाक में भी दिया जाता हैं ।