उकचना

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

उकचना पु क्रि॰ अ॰ [सं॰ उत्कष > उक्कस=उखाड़ना]

१. उखड़ना । अलग होना ।

२. पर्त से अलग होना । उचड़ना ।

३. उठ भागना । हट जाना । स्थान त्याग करना । उ॰— सरजा के डर हम आए इतै भाजि तब सिंह सों डराय याहू ठौर ते उकचि है ।—भूषण (शब्द॰) ।