उकटना

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

उकटना क्रि॰ स॰ [सं॰ उत्कथ्थन पा॰ उक्कथन] बार बार कहना दे॰ 'उघटना' । उ॰—मैंने तुमसे सैकड़ों बार कहा होगा कि जो बात गुजर गई उसे बार बार मत उकटा करो ।—सज्जाद संबुल (शब्द॰) ।