उदाहरण

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी[सम्पादन]

संज्ञा[सम्पादन]

वह शब्द जो किसी वस्तु के विवरण को कम शब्दों में व्यक्त करे

अनुवाद

example en(en)

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

उदाहरण संज्ञा पुं॰ [सं॰] [वि॰ उदाहरणीय, उदाहार्य, उदाहृत]

१. दृष्टांत । मिसाल । न्याय में वाक्य के पाँच अवयवों में से तीसरा जिसक साथ साध्य का साधर्म्य या वैधर्म्य होता है । विशेष—उदाहरण दो प्रकार का होता है, एक 'अन्वयी' और दूसरा 'व्यतिरेकी' । जिससे साध्य के साथ साधर्म्य होता है वह अन्वयी है; जैसे—शब्द अनित्य है, उत्पत्ति धर्मवाला होने से घट की तरह । यहाँ घट अन्वयी उदाहरण है । व्यतिरेकी वह है जिसका साध्य के साथ वैधर्म्य हो; जैसे—शब्द अनित्य है उत्पत्ति धर्मवाला होने से । जो उत्पत्ति धर्मवाला नहीं होता, वह नित्य होता है, जैसे, आकाश, आत्मा आदि ।

३. आरंभ (को॰) ।

४. एक प्रकार का अर्थालंकार जिसमें प्रस्तुतार्थ के समर्थन के लिये उसी की समता के अप्रस्तुत को उदाहरणस्वरूप उपस्थित कर देते हैं (को॰) ।