उपड़ना

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

उपड़ना क्रि॰ अ॰ [सं॰ उत्पाटन प्रा॰ उप्पाडन]

१. उखड़ना ।

२. उपटना । अंकित होना । निशान पड़ना । उ॰—देखा कि उन चरण दिह्नों के पास एक नारी के पाँव भी उपड़े हुए है ।—लल्लू॰ (शब्द॰) ।