उपाय

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

उपाय संज्ञा पुं॰ [सं॰] [वि॰ उपायी, उपेय]

१. पास पहुँचना । निकट आना ।

२. वह जिससे अभीष्ठ तक पहुँचे । साधन । युक्ति तदबीर ।

३. राजनीति में शुत्र पर विजय पाने की सुक्ति । ये चार हैं, साम (मैत्री), भेद (फूट ड़ालना), दंड़ (आक्रमण) और दान (कुछ जेकर राजी करना) ।

४. श्रंगार के दो साधन साम ओर दान ।