उमंग

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

उमंग संज्ञा स्त्री॰ [सं॰ उद्=ऊपर+मङ्ग=चलना अथवा सं॰ उन्म- दाङ्ग, प्रा॰ * उम्मअंग अथवा देशी॰]

१. चित्त का उभाड़ । सुखदायक मनोवेग । जोश । मौज । लहर । आनंद । उल्लास । जैसे—आज उनका चित्त बड़े उमंग में है । उ॰—बसे जाय आनंद उमंग सों गैया सुखद चरावें ।—सूर (शब्द॰) ।

२. उभाड़ । अधिकता । पूर्णता । उ॰—आनंद उमंग मन, जोबन उमंग तन, रूप के उमंग उमगत अंग अंग है— तुलसी (शब्द॰) ।