उरे

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

उरे †पु क्रि॰ वि॰ [वै॰ सं॰ अवार=निकट, इधर, सं॰ अवर]

१. परे । आगे । दूर ।

३. इधर । निकट उ॰—(क) श्री जगन्नाथराय जी तें उरे कोस बीस कोस पर एक ग्राम है । दौसौबावन॰, भा॰२, पृ॰ १३ (ख) घरतें चलिकै दिल्ली के उरे को चल्यो ।—दो सौ बावन, भा॰१, पृ॰ १९५ ।