उषा

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

उषा संज्ञा स्त्री॰ [सं॰]

१. प्रभात । वह समय जब दो घंटे रात रह जाय । व्राह्म वेला ।

२. अरुणोदय की लाली ।

३. बाणासुर की कन्या जो अनिरुद्ध को ब्याही गई थी । यौ॰—उषाकाल । उषापति ।