ऊँगना

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ऊँगना † संज्ञा स्त्री॰ [ देश॰ ]

१. चौपायों का एक रोग जिसमें उनके कान बहते हैं और उनका शरीर ठंडा हो जाता है और खाना पीना छूट जाता है ।

२. बैलगाडी़ आदि की धुरी में तेल देना । औंगना ।