ऊँचि

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ऊँचि पु † वि॰ [ हिं॰ ] दे॰ 'ऊँचा' में । उ॰— इहाँ ऊँचि पदवी हुती गोपीनाथ कहाय । अब जदुकुल पावन भयो, दासी जूठन खाय ।—नंद ग्रं॰, पृ॰ १८३ ।