ऊदबिलाव

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ऊदबिलाव संज्ञा पुं॰ [सं॰ उद्विडाल] नेवले के आकार का पर उससे बड़ा एक जंतु जो जल और स्थल दोनों में रहता है । विशेष—यह प्रायः नदी के किनारों पर पाया जाता है और मछलियाँ पकड़कर खाता है । इसके कान छोटे, पंजे जालीदार, नाखून टेढ़े और पूँछ पुछ चिपटी होती है । रंग इसका भूरा होता है । यह पानी में जिस स्थान पर डूबता है वहाँ से बड़ी दूर पर और बडी देर के बाद उतराता है । लोग इसे मछली पकड़वाने के लिये पालते भी हैं । यौ॰—ऊदबिलाव की ढेरी=वह झगड़ा जो कभी न निपटे । सब दिन लगा रहनेवाला झगड़ा । विशेष—कहते हैं, जब कई ऊजबिलाव मिलकर मछलियाँ मारते हैं तब वे एक जगह उनकी ढेरी लगा देते हैं और फिर बाँटने बैठते हैं । जब सबके हिस्से अलग अलग लग जाते हैं तब कोई न कोई ऊदबिलाव अपना हिस्सा कम समझकर फिर सबको मिला देता है और फिर बँटाई शुरू होती है ।