ऊदल

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ऊदल ^१ संज्ञा पुं॰ [देश॰] एक पेड़ । गुलबादला । बूटी । विशेष—यह हिमालय की तराई के जंगलों में बहुत होता है । बरमा और दक्षिण में भी होता है । इसकी छाल से बड़ा मजबूत रेशा निकलता है जिसे बटकर रस्सा बनाते हैं । दक्षिण में हाथी बाँधने का रस्सा प्रायः इसी का बनाते हैं ।

ऊदल ^२ संज्ञा पुं॰ [हिं॰ उदयसिंह का संक्षिप्त रूप हिं॰] महोबे के राजा परमाल के मुख्य सामंतों में से एक, जो अपने समय के बड़े भारी वीरों में था । यह आल्हा का छोटा भाई और पृथ्वी राज का समकालीन था ।