ऊभचूभ

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ऊभचूभ ^१ संज्ञा स्त्री॰ [हि॰ ऊभ+चूभ]

१. डूबना उतराना ।

२. आशा निराशा के मध्य की स्थिति । क्रि॰ प्र॰ होना=उ॰—व्यास महा कच्छप सी धरणी, ऊभचूभ थी विकलित सी ।—कामायनी, पृ॰ १५ ।

ऊभचूभ ^१ क्रि॰ वि॰ पूर्ण रूप से या सराबोर (जल) ।