ऊर्मिमुखर

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ऊर्मिमुखर वि॰ [हिं॰ ऊर्मि+मुखर] लहरों से ध्वनित । लहरों की कलकल से गुंजित । उ॰—क्या वही तुम्हारा देस, ऊर्मि- मुखर इस सागर के उस पार कनक किरण से छाया ग्रस्ता- चल पश्चिम द्वार । —अनामिका, पृ॰ ५६ ।