ऊषा

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ऊषा संज्ञा पुं॰ [सं॰]

१. प्रभात । सबेरा ।

२. अरूणोदय । पौ फटने की लाली ।

३. वाणासुर की कन्या जो अनिरूद्ध को व्याही गई थी ।