एकचक्र

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

एकचक्र ^१ संज्ञा पुं॰ [सं॰]

१. सूर्य का रथ (जिसमें एक ही पहिया माना गया है) ।

२. सूर्य ।

एकचक्र ^२ वि॰

१. एक चक्कावाला । एक पहियावाला (को॰) ।

२. एक राजा द्वारा शासित (को॰) ।

३. चक्रवर्ती । उ॰— चल्यो सुभट हरिकेश सुवन स्यामक को भारी । एकचक्र नृप जोग दोय भुज सरधनुधारी ।—गोपाल (शब्द॰) ।