एकरंग

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

एकरंग वि॰ [हिं॰ एक+रंग]

१. एक रंगढंग का । समान ।

२. जिसका भीतर बाहर एक हो । जो बाहर से भी वही कहता या करता हो जो उसके मन में हो । कपटशून्य । साफ दिल ।

३. जो चारो ओर एक सा हो । जैसे—'दो- रंगी छोड़ दे एकरंग हो जा ।'