एकलंगाडंड

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

एकलंगाडंड संज्ञा पुं॰ [हि॰एक+अलंग(=ओर, तरफ,+डंड़] एक प्रकार की कसरत या डंड़ जिसे करते समय एक ही हाथ पर बहुत जोर देकर उसी ओर सारा शरीर झुकाकर दंड करते है और दूसरी ओर का पाँव उठाकर हाथ के पास ले जाते हैं ।