एकागर

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

एकागर पु † वि॰ [सं॰ एकाग्र] एक ओर स्थिर । चंचलता रहित । एकाग्र । उ॰—चाँद सुरज एकागर करिकै उलटि उरध अनुसेरे । —भीखा श॰, पृ॰, ८ ।